अहसास रिश्‍तों के बनने बिगड़ने का !!!!

एक चटका यहाँ भी

नमस्कार सत श्री अकाल !! मै सुजात एक बार फ़िर से आप सब का स्वागत करता हु अपने कार्यक्रम जबाब हाजिर है मे अपने सहयोगी सेफ़ाली के साथ और आज हमारे साथ है एक बार फ़िर नेता मजबूतीराम .

हा तो मजबूतीराम जी कहा से शुरु किया जाये ?

मजबूतीराम : कही से भी करो पर यह से मत करो कि हमने इन्टरव्यू के लिये पैसे क्यु लिया!!!! आयी बात समझ मे ?

सुजात : हा हा नेताजी आ गयी बात समझ मे अगर नही समझुगा तो आप यहा से भी डिमान्ड कर सकते है पैसे का !!

मजबूतीराम : बिल्कुल सही .

इधर मजबूतीराम द्वारा ३० हजार रुपया लिये जाने के कारण शाम ताक टी वी वाले बहुत नाराज थे और सुजात एन्कर से कह भी दिये थे कि इस साले नेता से ऐसे सवाल पुछना कि  इस साले नेता का गोबर निकल जाये !!!


अब शुरु करते है आज का सवाल-जवाब....

सुजात : हां तो नेताजी आप ने चुनाव मे जितने के लिये जनता से क्या क्या वादे किये थे ?

मजबूतीराम : किये थे नही अब भी कर रहा हुं और वो वादे कुछ इस तरह है . पानी दुगा , बिजली आयेगी, नौकरी मिलेगी और भी बहूत कुछ.

सुजात: और पुरा क्या क्या किया ?

मजबूतीराम : सब कुछ , हां सब कुछ 

सुजात : कैसे , पानी कि समस्या कहा तक समाप्त हुइ ?

मजबूतीराम : हुइ ना , बरशात आयी है छ्त खोलके बैठो इतना पानी मिलेगा कि डूब मरोगे !!

सुजात : आगे और भी बहूत कुछ है पर पहले एक छोटा सा ब्रेक . मिलते है आपसे ब्रेक के बाद .

*******************************************
image050
समीरलाल जी का पोस्ट

कैसा ये कहर!


 श्री अविनाश वाचस्पति का इंटर्व्यु लेते हुये ताऊ 
My Photo आप उपर दिये लिन्क से वहा जा सकते है लेकिन पूरी पोस्ट  पढ्ने के बाद :)
 *********************************************
सेफ़ाली : वेलकम ब्रेक मै हू सेफ़ाली 

मजबूतीराम : और हम है मजबूतीराम .

सुजात : अच्छा नेताजी आप ने वादा किया था कि लोगो को नौकरी देगे उसका क्या?

मजबूतीराम : दिया ना कितनो को दिया .

सुजात : किसको ?

मजबूतीराम : अपने चाचा के लडके को , मौसी के दामाद को , अपने भान्जे को .

सुजात : सारे रिस्तेदारो को पब्लिक को क्यु नही ?

मजबूतीराम : सबअको मिलेगा तुम तो अब गले ही पड गये यहा जेब मे लेकर नौकरी घूम रहा हु क्य ?

सुजात : अच्छा नेताजी महगाई इतनी बड रही है मिट्टी का तेल आस्मान छु रहा है पे्ट्रोल का दाम कुतुबमिनार से भी ज्यादा हो गया आपका क्या राय है ?

मजबूतीराम : भैया सच पुछो तो अच्छा ही हुआ. 
कैसे 

देखो जब तक मिट्टी का तेल सस्ता था आये दिन घर की बहुए जलती रहती थी अब महन्गा हो गया दिया जलाने के लिये मिलेगा ही नही कोइ कैसे जलेगा ?

और पेट्रोल का दाम ज्यदा होने से कोइ पेट्रोल से दन्गा तो नही फ़ैलायेगा .

और तुम लोग ही कौन सा बहूत नेक काम करते हो जब देखो सारी सडी गली न्युज को ब्रेकिन्ग न्युज बना देते हो .

अब तो न्युज टी वी वाले गुस्से मे आ गये और बोले आप जैसे नेता की कोइ जरूरत नही है .

मजबूतीराम : किस्को किसको  नही है ?


सुजात: कम से कम हम जैसे शरीफ़ लोगो .


मजबूतीराम : तुम जैसे शरीफ़ है कितने ?
सुजात : फ़िर भी १० परसेन्ट तो है .
मजबूतीराम : और बाकी ९० पर्सेन्ट लोगो को नेता की जरूरत नही है क्या?


कैसा लगा हमारा प्रयास जरूर बताइयेगा ....

धन्यवाद ..


2 comments:

  1. Udan Tashtari on August 27, 2009 at 9:31 PM

    १०% तो काफी बड़ी भीड़ कहलाई..आज एड काफी मिल गये!

     
  2. आशीष खण्डेलवाल (Ashish Khandelwal) on August 28, 2009 at 10:52 AM

    mazedaar interview.. Happy blogging

     

हमारे ब्लाग गुरुदेव

हमारे ब्लाग गुरुदेव
श्री गुरुवे नमः

Blog Archive

Followers

About Me

My photo
साँस लेते हुए भी डरता हूँ! ये न समझें कि आह करता हूँ! बहर-ए-हस्ती में हूँ मिसाल-ए-हुबाब! मिट ही जाता हूँ जब उभरता हूँ! इतनी आज़ादी भी ग़नीमत है! साँस लेता हूँ बात करता हूँ! शेख़ साहब खुदा से डरते हो! मैं तो अंग्रेज़ों ही से डरता हूँ! आप क्या पूछते हैं मेरा मिज़ाज! शुक्र अल्लाह का है मरता हूँ! ये बड़ा ऐब मुझ में है 'yaro'! दिल में जो आए कह गुज़रता हूँ!
विजेट आपके ब्लॉग पर