अहसास रिश्‍तों के बनने बिगड़ने का !!!!

एक चटका यहाँ भी


गणपती आयो बप्पा रिद्धि सिद्धि लायो रंग जीवन में नया लायो रे!!!


नमस्कार आप सभी को गणेश चतुर्थी की बोले तो ताऊ की भाषा में घणीबधाई , और मेंरी बोली में शुभकामनाये !!!

अब आते है हँसी के रंग, पंकज के संग पोस्ट में!!
आज से हर रवीवार आप यहाँ कुछ हँसी के जुमले पढेगे !!!!
दोस्तों हुआ यु कि पति पत्नी रोज रोज के झंझट से तंग आकर तलाक लेने का फैसला किया और जा पहुचे कोर्ट में तलाक के लिए संयोग से जज महिला थी ।
जज साहिबा ने पहले पति से पूछा आप क्यों पत्नी से क्यों तलाक ले रहे हो ?
पति बोला : मै इससे खुश नही हु !
जज साहिबा ने पत्नी से पूछा : क्या ये सच है ?
पत्नी बोली : पता नही ये क्यों ये खुश नही है ? सारा मुहल्ला तो खुश रहता है !!
जज साहिबा ने पत्नी से सवाल किया : आप क्यों तलाक लेना चाहती हो ?
पत्नी बोली : मै बताउगी नही आप एक दिन इसके साथ रह लो खुद समझ जाओगी !!!!
अब आज का नमस्कार ।

5 comments:

  1. Arvind Mishra on August 23, 2009 at 9:40 PM

    यह तो सरासर मानहानि है न्यायालय की !

     
  2. क्रिएटिव मंच on August 24, 2009 at 1:54 PM This comment has been removed by a blog administrator.  
  3. Pankaj Mishra on August 24, 2009 at 2:01 PM

    @ यह सिर्फ हँसी के लिए लिखा गया है कृपया इसे इसी अंदाज़ में ले !
    धन्यवाद

     
  4. Harkirat Haqeer on August 24, 2009 at 10:09 PM

    मजबूती राम घबडाते हुए बोले भैया अन्दर का व्यू क्यों लेना है आज तो मै अंडरवीयर भी नही पहना हु ।


    ha...ha...ha....!!

     
  5. राहुल सि‍द्धार्थ on August 24, 2009 at 11:49 PM

    वाह!! अच्छा लिखा मजा आ गया.......

     

हमारे ब्लाग गुरुदेव

हमारे ब्लाग गुरुदेव
श्री गुरुवे नमः

Blog Archive

Followers

About Me

My photo
साँस लेते हुए भी डरता हूँ! ये न समझें कि आह करता हूँ! बहर-ए-हस्ती में हूँ मिसाल-ए-हुबाब! मिट ही जाता हूँ जब उभरता हूँ! इतनी आज़ादी भी ग़नीमत है! साँस लेता हूँ बात करता हूँ! शेख़ साहब खुदा से डरते हो! मैं तो अंग्रेज़ों ही से डरता हूँ! आप क्या पूछते हैं मेरा मिज़ाज! शुक्र अल्लाह का है मरता हूँ! ये बड़ा ऐब मुझ में है 'yaro'! दिल में जो आए कह गुज़रता हूँ!
विजेट आपके ब्लॉग पर